बुधवार, 15 जून 2011

मैं अपना पति सात कर रहीं हूं।

शर्माजी की पत्नी ने एक दिन
एकसाथ तीन लिपिस्टिक मंगाई
शर्माजी की बजट गड़बड़ाई
माथे पे पसीना आई
जबान कहने में लड़खड़ाई
फिर भी बात जुबान पर आई
और बोले डार्लिंग
इतना लिपिस्टिक का तुम क्या करोगी
आखिर एक दिन में मैं कितना लिपिस्टिक पीता हूं
वह बोली तुम अकेले थोड़े हो
तुम्हारे निठल्ले दोस्त भी इसी के सहारे जीते हैं
अच्छा तुम मेरे साथ विश्वासघात कर रही हो
नहीं द्रोपदी के पांच पति थे
मैं अपना पति सात कर रहीं हूं।

2 टिप्‍पणियां:

  1. नहीं द्रोपदी के पांच पति थे
    मैं अपना पति सात कर रहीं हूं।
    Aaj kal sankhhya badh gayee hai.

    उत्तर देंहटाएं
  2. bahut hi badhiya kavita hai mahodday .. aisee hee hasyakavita maine ek jagah aur padhi thi aap bhi padhe aur bateui kaise hain yeh hasyakavita.jagranjunction.com/

    उत्तर देंहटाएं