रविवार, 1 जनवरी 2012

हास्य कविता

उत्तर प्रदेष में इन दिनों अजब-गजब नजारा दिखाया जा रहा है
कभी भिखारी कहकर जनता का मान बढाया जा रहा है
तो कभी त्वमेव माता चपिता त्वमेव गाया जा रहा है।
पैसा पानी की तरह बहाया जा रहा है।
जनता जर्नादन के चरणों में चढ़ाया जा रहा है।
  सदाव्रत खूब लुटाया जा रहा है।
रामराज्य की याद दिलाया जा रहा है।
धर्म एवं जाति का इंजेक्षन लगाया जा रहा है।
जनता को मदहोषी की अवस्था में लाया जा रहा है।
सबको समान रूप से लॉलीपाप दिया जा रहा है।
सामाजिक समरसता लाने के लिए जातिवाद किया जा रहा है।
मुस्लिम आरक्षण प्रावधान किया जा रहा है
 बांटो और राज करो के सिद्धान्त पर चला जा रहा है।
कुर्सी पाने के लिए सारे धर्मकर्म किया जा रहा है।
पुजारियों एवं मुल्लों से जीत का आर्षिवाद लिया जा रहा है।
जनता के दुखदर्द देखकर
नेताजी के आंखों से आंसुओं की धार बही जा रही है।
पांच साल सुध नहीं लेने के लिए पष्चाताप किया जा रहा है
चुनाव जीतने के बाद
क्षतिपूर्ति कर देने का आष्वासन दिया जा रहा है।
मलपूओं एवं मिष्ठानों का भोज खुब दिया जा रहा है।
रैलियों में भाग लेकर षहर घुमने का निमंत्रण दिया जा रहा है।
अपने नाम पर मुहर लगाने के लिए बताया जा रहा है।
पांच साल को नाकाफी बताया जा रहा है।
एकबार और मौका देने के लिए पटाया जा रहा है।
दीन-हीनों को गले से लगाया जा रहा है।
विरोधी पार्टी के कार्यकर्ताओं को सताया जा रहा है।
चुनावी घोषणपत्र में किस्मत चमकाने के वादेे नेताजी द्वारा जनता से किया जा रहा है
और उसपर यकीन कर मुगेरीलाल के सपने जनता द्वारा बुना जा रहा है।


10 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर और रोचक प्रस्तुति..आप को सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  2. चुनावी यथार्थ को दर्शाती आपकी सुन्दर
    अभिव्यक्ति के लिए आभार.

    नववर्ष की आपको बहुत बहुत शुभकामनाएँ.

    समय मिलने पर मेरे ब्लॉग पर आईयेगा गोपाल जी.,

    उत्तर देंहटाएं
  3. आप तथा आपके परिवार के लिए नववर्ष की हार्दिक मंगल कामनाएं
    आपके इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल दिनांक 02-01-2012 को सोमवारीय चर्चा मंच पर भी होगी। सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर,कडक करारा प्रस्तुती..
    नया साल आपके जीवन को प्रेम एवं विश्वास से महकाता रहे,

    मेरी नई पोस्ट --"नये साल की खुशी मनाएं"--

    उत्तर देंहटाएं
  5. फिर लुटेगी कलावती ,ठगी जायेगी ,हाथ का निवाला भी गंवाएगी ,प्रियंका अपना रुपहला उजियारा बिखरायेगी ,.....माया ठगी रह जाएगी ,साइकिल भरमायेगी ,हंग असेम्बली आयेगी ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. यू पी उलटा प्रदेश कहलवाए जाने से बाज़ नहीं आयेगी ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. शानदार प्रस्तुति…………
    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  8. वाह....तिवारी जी........पूरे उत्तर प्रदेश मजेदार ब्यौरा दे डाला आपने.....बधाई........

    ये नव - वर्ष आप एवं आपके परिवार लिए
    विशेष सुख - शांतिमय, हर्ष - आनंदमय,
    सफलता - उन्नति - यश - कीर्तिमय और
    विशेष स्नेह - प्रेम एवं सहयोगमय हो !!!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. पढ़कर रोना आ रहा है और हंसने का प्रयास कर रहा हूँ:)

    उत्तर देंहटाएं